कोरोना वायरस बचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण सुरक्षात्मक उपाय जो आपकी जिंदगी के लिए बहुत मायने रखता है।
चीन से फैले कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत में जारी है।
चीन के बाद कोरोना वायरस दुनिया के अलग-अलग देशों में तांडव मचा रहा है।
लेकिन, अब भारत में अभी यह वायरस काबू से बाहर हो रहा है,
और सरकार से लेकर अन्य स्टेकहोल्डर्स कोरोना वायरस से बचने के लिए लगातार जागरूकता फैला रहे हैं।
कोरोना वायरस को लेकर लोगों को में कई तरह की अफवाहें हैं,
और इससे बचने के लिए क्या-क्या करना चाहिए और क्या नहीं, इसे लेकर भी लोगों में भ्रम की स्थिति है।
इसलिए इस घातक वायरस से बचने के लिए आपको यह जानना जरूरी है क्या करें और क्या न करें।

वायरस का कहर पूरी दुनिया मौत के साये के नीचे खड़ी है बेबस

कोरोना को काबू में करना बड़ी चुनौती…

स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है।
हालांकि, चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है।
वहां नए मामलों की संख्या घटी है. यह 170 देशों में फैल चुका है।
कोरोना वायरस (COVID19) के प्रकोप से बचने के लिए बुनियादी और बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी से अवगत कराना हमारा लक्ष्य और जिम्मेदारी भी है।
कोरोना वायरस के मामले भारत में भी लगातार बढ़ रहे हैं।
अभी हमारे पास समय है जिससे हम एहतियाती कदम उठा सकते हैं।
कुछ बेसिक सावधानियां जो प्रत्येक व्यक्ति को अपनी रोज मर्रा की लाइफ में अपनानी अति आवश्यक है।
यह सावधानियां यदि आप डेली लाइफ में अपना लेते हैं तो आप पर कभी भी कोई वायरस या बैक्टीरिया का असर नहीं होगा, (ऐसा मेडिकल एक्सपर्ट का दावा है)।

भारत सरकार ने भी जारी की एडवाइजरी..

भारत सरकार ने भी कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर तत्काल स्वास्थ्य केंद्र पर सूचना देने को कहा है।स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से 24 घंटे चलने वाला कंट्रोल रूम तैयार किया गया है।
फोन नंबर 011-23978046 के माध्यम से कंट्रोल रूम में संपर्क किया जा सकता है।
इसके अलावा ncov2019@gmail.com पर मेल करके भी कोरोना वायरस के लक्षणों या किसी भी तरह की आशंकाओं के बारे में जानकारी ली जा सकती है।

कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय बचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण, आपकी जिंदगी के लिए
कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय बचने के लिए बहुत महत्वपूर्ण, आपकी जिंदगी के लिए

कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय बचाव के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन भलीभांति करे और आपके संपर्क में आने वाले सभी लोगों से भी शेयर करें।

बार-बार हाथ धोएं….

अपने हाथों को अल्कोहल-आधारित लिक्विड से नियमित रूप से और अच्छी तरह से साफ करें या उन्हें साबुन और पानी से धोएं।

क्यों?…

अपने हाथों को साबुन और पानी से धोना या अल्कोहल-आधारित लिक्विड से हाथों को साफ़ करने से वायरस या बैक्टीरिया का असर आपके द्वारा कुछ खाने या पीने की वस्तुओं को छूने से बचाव करता है।
कब हाथ धोएं…

  • छींकने और खांसने के बाद।
  • बीमार व्यक्ति से मुलाकात के बाद।
  • शौचालय के इस्तेमाल के बाद।
  • खाने बनाने और खाने के बाद।
  • पशुओं को छूने के बाद।
  • बाहरी वस्तुओं को छूने के बाद।

सामाजिक दूरी बनाए रखें….

कम से कम 1 मीटर (3 फीट) की दूरी पर अपने आप को और किसी को भी, जो खांस रहा है या छींक रहा है, के बीच दूरी बनाए रखें।

कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय

खांसने या छींकने पर टिशू का इस्तेमाल करें या कोहनी से ढकें..

अगर कोई व्यक्ति आपके बिल्कुल पास में खांसी या छींके तो कुछ सेकेंड तक टुकड़ों में सांस लें।
क्यों?… जब किसी को खांसी या छींक आती है तो वे अपनी नाक या मुंह से छोटी तरल बूंदें छिड़कते हैं,
जिनमें वायरस हो सकता है।
यदि आप बहुत करीब हैं,
तो आप उस व्यक्ति द्वारा की गई खांसी के समय में भी सांस ले रहे होंगे,
जिसमें सीओवीआईडी-19 (COVID19) वायरस भी शामिल है यदि खांसी करने वाले व्यक्ति को यह बीमारी है।

कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय

वायरस का कहर पूरी दुनिया मौत के साये के नीचे खड़ी है बेबस….पड़ने के लिए यहां क्लिक करें

आंखों, नाक और मुंह को छूने से बचें..

हाथ कई जगहों को छूते हैं और वायरस को भी छू सकते हैं।
एक बार दूषित होने पर, हाथ वायरस को आपकी आंखों, नाक या मुंह में स्थानांतरित(प्रवेश) कर सकते हैं।
वहां से, वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है और आपको बीमार कर सकता है।
ऐसा सभी प्रकार के वायरस से होता है।

श्वसन स्वच्छता का अभ्यास करें..कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय

सुनिश्चित करें कि आप और आपके आस-पास के लोग अच्छे श्वसन स्वच्छता का पालन करें।
इसका मतलब है खांसी या छींक आने पर अपनी मुड़ी हुई कोहनी या ऊतक (टिश्यू) से अपने मुंह और नाक को ढंकना।
फिर उपयोग किए गए ऊतक को तुरंत नष्ट करें।
क्यों?…
बूंदों से वायरस फैलता है।
अच्छी श्वसन स्वच्छता का पालन करके आप अपने आसपास के लोगों को सर्दी, फ्लू और सीओवीआईडी -19 जैसे वायरस से बचा सकते हैं।

यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई है,
तो जल्दी से चिकित्सा की तलाश करें।
यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं तो घर पर रहें।
यदि आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई होती है,
तो चिकित्सा पर ध्यान दें और पहले से फोन करें।
अपने स्थानीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करें।
क्यों?…
आपके क्षेत्र की स्थिति की जानकारी के लिए राष्ट्रीय और स्थानीय अधिकारियों के पास सबसे ज्यादा अपडेट उपलब्ध होती है।
समय रहते ना देरी किए यदि आप इसकी जानकारी अपने क्षेत्रीय स्वास्थ्य केन्द्र या भारत सरकार और हेल्थ डिपार्टमेंट ऑफ इंडिया द्वारा दिये गये निर्देश का पालन करे।
स्वास्थ्य विभाग को सूचित करने से आपको जल्दी से सही स्वास्थ्य सुविधा के लिए निर्देशित किया जा सकेगा। यह आपकी रक्षा भी करेगा वायरस और अन्य संक्रमणों को फैलने से रोकने में मदद करेगा।

कोरोना वायरस सुरक्षात्मक उपाय आपका वचाव है…

यदि आपको या आपके आसपास ऐसे लक्षण दिखाई दे तो तुरंत बिना किसी प्रकार की देरी किए बिना इस नंबर या ईमेल पर संपर्क करे।
भारत सरकार ने भी कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर तत्काल स्वास्थ्य केंद्र पर सूचना देने को कहा है।स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से 24 घंटे चलने वाला कंट्रोल रूम तैयार किया गया है।
फोन नंबर 011-23978046 के माध्यम से कंट्रोल रूम में संपर्क किया जा सकता है।
इसके अलावा ncov2019@gmail.com पर मेलकर के भी कोरोना वायरस के लक्षणों या किसी भी तरह की आशंकाओं के बारे में जानकारी ली जा सकती है।

ऊपर दिए गए मार्गदर्शन का पालन करें…
जब तक आप ठीक न हो जाएं, तब तक घर पर रहें,
जब तक कि ये लक्षण जैसे कि सिरदर्द और हल्की नाक बहना बंद न हो जाएं।
क्यों?…
दूसरों के साथ संपर्क से बचने और चिकित्सा सुविधाओं का दौरा करने से ये सुविधाएं अधिक प्रभावी ढंग से संचालित हो सकेंगी,
और आपको और अन्य को संभव COVID-19 और अन्य वायरस से बचाने में मदद मिलेगी।
यदि आप बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई मेहसूस करते हैं,
तो तुरंत चिकित्सीय सलाह लें क्योंकि यह श्वसन संक्रमण या अन्य गंभीर स्थिति के कारण हो सकता है।
दिए गए नम्बर पर कॉल करें और किसी भी प्रकार की यात्रा ना करें।
यदि किसी मजबूरी से यात्रा करते हैं तो यात्रियों से संपर्क ना करें।

कोरोना वायरस को कंट्रोल में करना बड़ी मुश्किल चुनौती है…..
स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है।
हालांकि, चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है।
वहां नए मामलों की संख्या घटी है।
यह 170 देशों में फैल चुका है।
विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी (WHO) ने इसे महामारी घोषित किया है।

किसान को चंदन की खेती कैसे लाभदायक साबित हो सकती है

किसान को चंदन की खेती कैसे लाभदायक साबित हो सकती है

29 अप्रैल, 2020 क्षुद्रग्रह से पृथ्वी का अंत नहीं होगा


2 Comments

कोविड-19 बनाम इबूप्रोफेन - All in Hindi · March 22, 2020 at 2:09 pm

[…] भारत सरकार ने भी कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर तत्काल स्वास्थ्य केंद्र पर सूचना देने को कहा है।स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से 24 घंटे चलने वाला कंट्रोल रूम तैयार किया गया है। फोन नंबर 011-23978046 के माध्यम से कंट्रोल रूम में संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा ncov2019@gmail.com पर मेल करके भी कोरोना वायरस के लक्षणों या किसी भी तरह की आशंकाओं के बारे में जानकारी ली जा सकती है। […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *