पृथ्वी का अंत नहीं बल्कि क्षुद्रग्रहो के खोज कर्ताओं के लिए अच्छा अवसर है कि वो पहाड़ के आकार का क्षुद्रग्रह OR 2 अप्रैल में पृथ्वी के निकट से गुजरेगा,
क्षुद्रग्रह के खोज कर्ता
अधिक जान सकते है।

घर से लाइव देखे….

29 अप्रैल, 2020 को संभावित खतरनाक क्षुद्रग्रह (52768) 1998 OR2 का पृथ्वी से करीब 6.3 लाख किलोमीटर की दूरी से गुज़र जाना हमारे बहुत निकट, लेकिन सुरक्षित, और रोमांचित सामना होगा।
“वर्चुअल टेलीस्कोप प्रोजेक्ट आपको इसे ऑनलाइन लाइव दिखाएगा-
अपने घर से जुड़ें या दुनिया के किसी भी कोने लाइव देख सकते है।”

एस्ट्रोफिजिसिस्ट जियानलुका मैसी के अनुसार..

इटली में वर्चुअल टेलीस्कोप प्रोजेक्ट के एस्ट्रोफिजिसिस्ट जियानलुका मैसी ने कहा, क्षुद्रग्रह अप्रैल के अंत तक दूरबीन से देखा जा सकता है।
डॉ मेसी ने कहा, 28 अप्रैल की रात को क्षुद्रग्रह को ट्रैक करेंगे और इंटरनेट पर लाइव करेंगे।

पृथ्वी का अंत नहीं होगा 29 अप्रैल, 2020 को पृथ्वी से करीब 6.3 लाख किलोमीटर की दूरी से 19 हज़ार मील/घंटा की रफ्तार से गुजरेगा

क्या वाकई दुनिया बचाने के लिए हमारे पास सिर्फ एक महीने का ही वक्त बचा है?
दरअसल, पृथ्वी का अंत होने की घंटी बजने लगी हैl
जो दुनिया के लिए इस वक्त सबसे बड़ी चिंता बन गई है?
नासा ने खुद इस बात की पुष्टि की है कि आने वाले 29 अप्रैल को दुनिया बदल सकती हैl

नासा के अनुसार …

क्षुद्रग्रह के हमारी धरती से टकराने की संभावनाएं…

हालांकि एस्टेरोइड OR2 पृथ्वी के लिए कोई ज्यादा खतरा पैदा नहीं करता है,
लेकिन इसका पृथ्वी को ऑर्बिट करना गहरे अंतरिक्ष में छिपने वाले संभावित खतरों की याद दिलाता है।
नासा के खगोलविदों का मानना है कि कोई भी 0.6 मील (1 किमी) से बड़ा कोई भी प्रभावकारक “वैश्विक स्तर” पर नुकसान का कारण है।
लेकिन ये तबाही की घटनाएं बहुत दुर्लभ हैं और केवल कुछ मिलियन वर्षों में एक बार होती हैं।
वर्तमान में, नासा को हमारे ग्रह से टकराने के लिए कोई क्षुद्रग्रह या धूमकेतु सम्भावना अधिक नहीं है।

एपोफिस 2029 विशाल क्षुद्रग्रह , लगभग 1,100 फीट (340 मीटर) फैला है और पृथ्वी की सतह के 19,000 मील (31,000 किलोमीटर) के भीतर से गुजरेगा।

एपोफिस 2029 विशाल क्षुद्रग्रह

वास्तविक खतरा छोटे अंतरिक्ष चट्टानों से आता है, जिन्हें निकट-पृथ्वी-वस्तुएं (Near-Earth-Objects) कहा जाता है।
जिनकी संख्या अनगिनत हैं और पृथ्वी के अतीत को दोहराते हैं।
2013 में, रूस के चेल्याबिंस्क ओब्लास्ट(
Chelyabinsk Oblast ) के ऊपर आसमान में एक 65.6 फीट चौड़ी (20 मीटर) चट्टान फट गई और 1000 से अधिक लोग घायल हो गए।
हर एक दिन लगभग 100 टन अंतरिक्ष की धूल और रेत के दाने के आकार के कण वातावरण में पिघल जाते हैं।
वर्ष में एक बार, एक कार के आकार का क्षुद्रग्रह जलने से पहले एक उज्ज्वल आग का गोला बनाने के लिए केवल ग्रह के वातावरण में दुर्घटनाग्रस्त हो जाता है।
नासा ने कहा: “हर 2,000 साल में , एक उल्कापिंड एक फुटबॉल मैदान के आकार का पृथ्वी से टकराता है और इस क्षेत्र में भारी तबाही मंजर नजर आने लगता है।”

अरबों साल पहले पृथ्वी का अंत…

अरबों साल पहले जब एस्टेरोइड धरती से टकराया था,
तब डायनासोर युग का अंत हुआ था l
2020 में ऐसा ही डर, ऐसा ही खौफ एक बार फिर पूरी दुनिया पर मंडराने लगा है l
बड़े-बड़े वैज्ञानिकों की नींद उड़ी है l
सुपरपावर अमेरिका तक घबराया हुआ है l
क्योंकि, नासा ने पुष्टि की है कि ऐसा ही एक विशाल क्षुद्रग्रह एक बार फिर से धरती के बेहद करीब से गुजरने वाला है l
दुनिया बदल देने वाली ये तारीख 29 अप्रैल हो सकती है l

अरबों साल पहले डायनासोर युग का हुआ था अंत, क्या अब मानव सभ्यता का अंत होने वाला है?
नासा की मानें तो फिलहाल चिंता की बात नहीं है l लेकिन, कई वैज्ञानिक इसके बाद भी आशंका जता रहे हैं कि अगर इसकी टाइमिंग में कुछ सेकंड का भी अंतर हुआ तो ये Asteroid धरती से टकरा सकता है और तब बहुत मुमकिन है कि इसके बाद डायनासोर की तरह पूरी मानव सभ्यता का अंत(पृथ्वी का अंत) हो जाए l

6.6 करोड़ साल पहले जिस क्षुद्रग्रह के धरती पर टकराने से डायनासोर खत्म हो गए थे,
उसकी रफ्तार 40 हज़ार मील प्रति घंटा थी,
उस वक्त एस्टेरॉयड की टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि इससे धरती पर जीवन को तीन बार खत्म किया जा सकता था l

जिसने विशाल खतरनाक डायनासोर जैसे जीवों का इस ग्रह से नामो निशान मिटा दिया,
और डायनासोर से भी खतरनाक भयानक मानवों को इस प्लानेट को तहस-नहस करने का मौका दिया l

भयानक उल्कापिंड विस्फोट

6.6 करोड़ साल पहले मेक्सिको के युकटॉन प्रायद्वीप से एस्टेरोइड टकराया था l
जिससे वहां 111 मील चौड़ा और 20 मील गहरा गड्ढा बन गया था l
वैज्ञानिकों ने इस गड्ढे की जांच की तो वहां की चट्टान में सल्फर कम्पाउन्ड पाया गया l
एस्टेरोइड की टक्कर से ये चट्टान वाष्प में बदल गई थी,
जिसने हवा में धूल का बादल बना दिया था l
नतीजा ये हुआ कि पूरी धरती ठंडी हो गई और एक दशक तक इसी स्थिति में बनी रही l उन हालात में अधिकतर जीवों की मौत हो गई और डायनासोर युग का भी अंत हो गया था l

6.6 करोड़ साल पहले मेक्सिको के युकटॉन प्रायद्वीप से एस्टेरोइड टकराया था l 
जिससे वहां 111 मील चौड़ा और 20 मील गहरा गड्ढा बन गया था l
वैज्ञानिकों ने इस गड्ढे की जांच की तो वहां की चट्टान में सल्फर कम्पाउन्ड पाया गया l
एस्टेरोइड की टक्कर से ये चट्टान वाष्प में बदल गई थी, 
जिसने हवा में धूल का बादल बना दिया था l
नतीजा ये हुआ कि पूरी धरती ठंडी हो गई और एक दशक तक इसी स्थिति में बनी रही l उन हालात में अधिकतर जीवों की मौत हो गई और डायनासोर युग का भी अंत हो गया था l

बाज़ एक शिकारी पक्षी है


1 Comment

कर्मों का फल प्रत्येक मनुष्य को इसी जन्म में अवश्य मिलता है · April 22, 2020 at 9:57 pm

[…] कुत्ते ने सब खाना खत्म कर दिया। वह अपूर्व बलवान बन गया और दूसरे क्षण जैसे ही खाना खत्म हो गया, बड़े भाई के सामने कूद पड़ा। उसने बड़े भाई के माथे पर प्रहार किया और उसका माथा काट डाला।भोजन में ही कोई कमी रह गई होगी। उसे शायद पसंद नहीं आया होगा। यह सोचकर वह छोटे भाई के पास पूछने गया। चार मेज पर भोजन तैयार होना चाहिए था। यह जानकारी लेकर लौटा और कथनानुसार चार मेजों पर भरपूर खाना रख दिया। इस बार नागराज का कुत्ता अवश्य ही रीछ ले आएगा। मन में यह सोचकर कहा, ‘छोटे भाई ने जैसा बताया, वैसा ही बनाकर खाना रख दिया है। तू जल्दी खा और सीधा पहाड़ पर जा। मैं बड़े रीछ की आशा करता हूं यहां बैठकर।कुत्ते ने यूं सिर हिलाया जैसे उसकी बातें समझ गया हो, उसने तुरंत ही खाना खाया। […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *